technical seo audit

SEO में Technical SEO क्या है? (13 Powerful Audit Factors)

आप सभी जानते है की किसी भी Site का SEO उसका Back Bone होता है। खैर आज हम इस post में SEO के बारे में बात नहीं करने वाले आज हम बात करने वाले है Technical SEO के बारे में, Technical SEO का नाम आप मे से बहुत ही कम लोगों ने सुना होगा। यह आपके website के बहुत सारे Factors को Effect करता है।

Technical SEO क्या है? (What is Technical SEO)

Technical SEO एक ऐसा process है जिसको करने से आपकी website indexing और crawling के लिए optimize हो जाती है। इसको करने से आप अपने website को google या किसी भी Search engine में add करा सकते हो। इस process का आपके actual content से कोई भी लेना देना नहीं है इसलिए इसे “Technical” नाम दिया गया है। अगर मैं आपको short में कहूं तो इस process में आप अपने website को Technically Search engine के लिए optimize करते हो।

Technical SEO Audit कैसे करें?

Technical SEO Audit करने के लिए आपको बहुत सारे Factors को follow करना होगा जिसकी मदद से आप खुद ही अपने website का Audit कर सकते है।

1. Preferred Domain को Choose करें

अपने blog या website को setup करते समय आपको Search engine को बताना पड़ता है की आपकी website का URL क्या है।

http://www.abc.com

http://abc.com

यह पर दो URL given है जो की एक ही website को belong करता है। हम यह बात जानते है की चाहे हम दोनों में से कोई भी URL पर click करें हम एक ही website पर land करेंगे। User के लिए तो यह दोनों एक ही website है पर जब बात Search engine (google, bing, yahoo etc.) पे आती है तो वो इन दोनों URLs को अलग- अलग websites की तरह treat करता है। जिसके कारण आपको Indexing issues, duplicate content और यहाँ तक की आप google पे अपनी ranking भी खो सकते हो। Preferred Domain को Choose करना आपके Technical SEO के अंदर आता है।

2. Robots.txt file Setup करें

बहुत ही जरूरी है क्योंकि इसके माध्यम से ही हम Google के bots को बताते है की आपको उन्हें किस posts या pages को Crowl करना है। इस file को setup करने के लिए आपको अपने website के URL के बाद robots.txt type करके search करना है और आपके पास आपका robots.txt file आ जायेगा।

Example:- abc.com/robots.txt

उस file को आपको copy कर के आपको इसको custom robots.txt में paste (For Blogger)  करना है। अगर आपका Website WordPress में है तो आपको Yoast SEO Plugin Activate करना होगा। Yoast SEO में यह काम करना ज्यादा आसान होता है। Robots.txt file को Setup करके आप अपने Technical SEO को better कर सकते है।

WordPress VS Blogger In Hindi

3. URL Structure को optimize करें

आपका next step होगा अपने URL Structure को Optimize करना, आपको अपने URL को अपने Keyword के हिसाब से Optimize करना होगा। आपको अपने keyword में कभी भी uppercase नहीं use करना चाहिए। आपको हमेशा words को separate करने के लिए “-” का use करना चाहिए। आपको कभी भी अपने URL में कभी भी Stop Words नहीं use करना चाहिए।

Example 1:- abc.com/technical-seo-kaise-kare

Example 2:- abc.com/technical-seo

यहाँ पर आपको दो URL के example है दोनों ही SEO friendly URL है। पर अगर आप मुझसे पूछे की कौन सा Great है, तो मैं आपसे कहूंगा की example 2 बिल्कुल perfect है क्योंकि इसमें सिर्फ keyword पर focus किया गया है। आपको भी अपने URL को short बनाना है जितना हो सकें आप अपने URL में सिर्फ keyword ही use करे।

4. Native और Site Structure को Optimize करें

Website के Site Structure को Optimize करना SEO के Point of View से बहुत जरूरी होता है। काफी बार Visiter जब आपके Website पर आते है तो उन्हें अपने Intrest के Content को खोजने में दिक्कत होती है क्योंकि आप कई बार सभी Types के Content को एक ही Category में डाल देते हो। सबसे पहले आपको अपने Categories को Define कर के उसके हिसाब से अपने Site के Structure को बनाना होगा ताकि Visiters को उसकी Intrest की चीज़ जल्दी मिल सके। SEO में भी यह major role play करता है।

5. Breadcrumbs Menu को Add करें

Site Structure की तरह Breadcrumbs Menu भी SEO के लिए बहुत जरूरी है। चलिए पहले जानते है की यह breadcrumbs menu होता क्या है।

Example:- Blog > Digital Marketing > SEO > Technical SEO

तो काफी बार आपने कई website पर इस तरह का Structure देखा होगा इसे ही कहते है Breadcrumbs menu हमारे Category के अन्दर के Sub Category को belong करता है। असल में यह links होते है जिसको Press करके आप किसी भी Sub Category या Category को आसानी से visit कर सकते हो। जैसा की आपने Example देखा, इसमें User चाहे तो Directly Technical Seo के Page से Blog के Page पर जा सकता है वो भी सिर्फ एक Click से उसे बाकी दो Sub Category को नहीं पार करना पड़ेगा।

Grow YouTube Channel Fast In Hindi

6. Use Structured Data Markup

अगर मैं Simple language में बोलू तो Structured Data एक ऐसे Codes होते है जिसे हम अपने Web Pages में Add करके  Crawlers को अपने Content के Context को समझने में मदद करते है। पर यह तभी संभव होता है जब आपका वो Web Page Google में Indexed हो। पहले Google इसे ज्यादा Prefer नहीं करता था पर अब यह SEO के लिए बहुत जरूरी हो गया है। इससे आप अपने CTR (Click Through Rate) को भी increase कर सकते हो। Technical SEO में यह बहुत अहम role निभाता है।

7. Canonical URLs

आपके हर एक page और posts का Canonical Url होना चाहिए। Generally यह कुछ <link rel=” canonical” href=” your page URL”> इस तरह का होता है। इसे आप अपने posts या pages के <head> में देख सकते है। Canonical Tags का use करने से आप अपने Website के Posts को Duplicate Content में Count होने से Prevent कर सकते हो।

यह काफी बार हमारे Themes में पहले से ही मौजूद होता है लेकिन अगर आपकी Website में यह मौजूद नहीं है तो आप इसे जरूर अपने Theme Editor में जा के Head Section में इस Code को Paste करें। काफी बार Blogger Website की theme में Canonical Tag नहीं होता है इसलिए आप इसे अपने Blogger में जरूर add करें।

8. अपने 404 pages को optimize करें

काफी बार हमारी Website पर हमें 404 Error देखने को मिलता है जिसके नीचे हम “Back To HomePage” का Option पाते है। आखिर यह 404 Error है क्या और यह क्या होता है, हम अभी इसी के बारे में detail जानते है। काफी बार यह error तक आता है जब हम अपनी Website को Blogger से Migrates करके WordPress पर ले के आते है। इसका main कारण होता है हमारा Permalink उसके Change के कारण हमें यह Problem Face करनी पड़ती है।

इसको Solve करने के लिए आप WordPress पर Plugin का Use कर सकते हो जो की आपके उस Website के Old Posts को New Posts पर Redirect कर सकते है। Technical SEO को Improve करने के लिए आपको 404 Errors को Solve करना जरूरी है नहीं तो यह काफी बार आपके Ranking पर भी Negative Impact डालता है।

SEO में Technical SEO क्या है? (13 Powerful Audit Factors)

9. XML Sitemap को अपने Website के Pages में Count करें

XML Sitemap आपके Website का Blue Print होता है जिसके अंदर आपके Website के सभी Posts, Pages की Information होती है। यह Google Bots का काम आसान कर देता है, जब वो आपके Website में आ के XML Sitemap पर जाते है तो उन्हें आपके Website के Posts, Pages और Category के बारे में सभी knowledge मिल जाती है जिसकी मदद से उन्हें आपके Website को Crawl करने में ज्यादा परेशानी नहीं होती।

अगर आपकी Website WordPress पर है तो RankMath Plugin की मदद से XML Sitemap Automatically Generate हो जाता है इतना ही नहीं RankMath time to time उसे Automatically भी करता रहता है। पर Blogger में ऐसा कुछ भी नहीं होता आपको Blogger में Manually XML Sitemap Create करता है।  Technical SEO के Point of view से XML Sitemap बहुत ही जरूरी है हमारे website के लिए।

Increase Traffic For Blog in Hindi

10. SSL Certificate

Website को Open करने बाद उसकी Security का ख्याल भी हमें ही रखना पड़ता है खासकर तब जब यह एक SEO का Ranking Factor हो। इसके लिए आपको अपने Website में SSL Certificate install करना पड़ता है। SSL certificate के बिना आपकी Website का URL कुछ “http://example.com” की तरह दिखता है लेकिन एक बार जब आप उसे Install कर देते है तो आपके Website का URL कुछ “https://example.com” की तरह दिखता है।

अपने Website के Fully secure करने के लिए आपको SSL Certificate जरूर install करना चाहिए। यह आपके Website के Technical SEO के साथ ही Security को भी काफी हद तक effect करता है।

11. अपने Website की speed को Improve करें

किसी भी website की Ranking उस Website की Loading time पर भी Indirectly असर डालता है। Slow Loading के कारण लोग उनकी Websites को avoid करना शुरू कर देते है। इसलिए जरूरी है की आप इन बातों को समझे और अपने Website की Loading Speed को Improve करें।

Blogger के लिए मैं सिर्फ इतना ही कहूंगा की आप ज्यादा JavaScript के Codes को अपने Website में ना use करें लेकिन अगर आपकी Website WordPress पर है तो आप CDN (Content Delivery Network) और भी बहुत सारे Plugins का use कर सकते हो जो की आपकी Website के Speed को Increase कर सके।

12. अपने Website को Mobile-Friendly बनाये

आज के time में Most of the user जो की आपके Website को Visit करेंगे वो Mobile और Tablet से ही करेंगे। ऐसे में आपको अपने Website को Mobile-Friendly बनाने में कोई कसर नहीं छोड़नी चाहिए। इसके लिए आप चाहे तो Responsive Theme Use कर सकते हो। Themes इस मामले में काफी हद तक आपके User को संतुष्ट करते है। मैंने पहले भी आपके साथ एक WordPress Themes For Blogger नाम से Post share किया है जिसे आप जाकर देख सकते हो और वहाँ से जा कर अपने Website के लिए Best Responsive theme select कर सकते हो।

Google Adsense Approval Tips In Hindi

13. अपने Website को Webmaster Tools में Submit करें

Google, Bing और Yandex जैसे और भी बहुत से Webmasters Tools होते है जहाँ पर जा कर आप अपने Website और उसके Posts को Submit कर सकते हो, जिसकी मदद से आपकी Posts भी Search index में show होने लगती है। यह सबसे ज्यादा Important Step है। इसलिए अपने Website को Index करवाना कभी न भूले और time to time Sitemap भी add करें। Webmaster Tools के अंदर आपके अपने Website की Performance भी देखने को मिलती है। यह Technical SEO का सबसे important Step है।

Conclusion

यह थे 13 ऐसे चीज़े जो Technical SEO के अंदर आते है जिसे हम सभी को जरूर Perform करना चाहिए ताकि हमारी Website भी Google और बाकी Search Engine में भी rank करें। वैसे Technical SEO में 2 और चीज़े आते है लेकिन हमें उनकी जरूरत नहीं पड़ती मैंने उन 13 चीजों को Explain कर दिया है जो की हमारे लिए must do है।

5 thoughts on “SEO में Technical SEO क्या है? (13 Powerful Audit Factors)”

  1. Pingback: Canonical Tag क्या है? (5 Great Benefit in Hindi)

  2. Pingback: SEO क्या है? | Basic To Advanced Level 2020

  3. Pingback: Off-Page SEO Kya Hai Kaise Karte Hai Best 6 Techniques

  4. Pingback: Best SEO Strategy Hindi कैसे बनाये [Follow Basic 9 Steps]

  5. Pingback: SEMrush Free 1 Month Trial अभी जाके Sign Up करें Free में 2020 - DivineSEO

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: